30.11.08

एक पत्र श्री अमिताभ बच्चन के नाम ...

श्री बच्चन की ताज़ा पोस्ट की प्रतिक्रिया में लिखा एक खुला पत्र : सन्दर्भ : http://bigb.bigadda.com/2008/11/30/day-220/#comments

प्रिय श्री बच्चन ,


देश की वर्तमान दशा किसी से छुपी नहीं है | राजनेताओं ने जिस प्रकार शिखन्डियों सा आचरण किया, अत्यन्त अक्षम्य है | अफसोस तो तब भी बहुत हुआ जब आपके परम मित्र अमर सिंह ने बटाला हाउस प्रकरण में आतंकियों की खुल कर वक़ालत की और अपनी नग्नता उजागर कर दी | हैरत होती है जब हम सुनते हैं कि सिने -कलाकार अपने निजत्व को देश से अधिक महत्व दे रहे हैं | विभिन्न मंदिरों में आपके भ्रमण के समाचार आपने इसी ब्लोग पर बडे चटखारे लेकर लिखे | देश हित में क्या किया कभी लिखा नहीं ? क्यों ? देश का एक बडा वर्ग सिने हस्तियों से प्रेरणा लेकर गुमराह भी होता है | आप हथियार लेकर सोये इससे देश क्या ग्रहण करे ? आप अपने ब्लोग को निजत्व से मुक्त करेंगे और देश के लिये कुछ साहसपूर्ण तथा प्रेरणास्पद कार्य करेंगे यही कामना है |

सादर

आर डी सक्सेना

भोपाल

2 comments:

raj said...

amitabh jee ke paas apne liye hi kahan time hai jo wo deshwasiyon ke liye sonche,unke bare me jnana ho to unka blog read kar len

Anil Pusadkar said...

बहुत् सही लिखा आपने.आखिर देश ने उन्हे महानायक जैसी पदवी दी है.उनकी भूमिका ऐसे समय मे ज्यदा महत्वपूर्ण है,मगर अफसोस उन्हे इस बात की फिक्र तक़ नही है.